स्तम्भ menu

Drop Down MenusCSS Drop Down MenuPure CSS Dropdown Menu

बुधवार, 1 अक्तूबर 2014

doha

भोजपुरी दोहा:

राखी दिहली झकझोर के, नेता भाषण बाँच
चमचा बदे बधाइ बा, तनक न देखल साँच
*
चिउड़ा-लिट्ठी ना रुचे, बिरयानी की चाह
नवहा मलिकाइन चली, घर फूंके की राह 
*
पनहा ठंडाई भयल, पिछड़े की पहचान
कोला पेप्सी पेग भा, अगड़े बर अरमान 
*
महिमा आपन देस बर, गायल बेद पुरान
रउआ बिटुआ के बरे, पच्छिम भयल महान

कोई टिप्पणी नहीं: