स्तम्भ menu

Drop Down MenusCSS Drop Down MenuPure CSS Dropdown Menu

बुधवार, 26 नवंबर 2014

muhavra / kahavat salila: aankh

मुहावरा - कहावत सलिला 
मुहावरा = अनेक लोगों के मुँह पर चढ़ी बात। बातचीत, बोलचाल में लाक्षणिक व्यंग्यार्थ में प्रयुक्त वाक्य। सामान्य अर्थ से भिन्न लाक्षणिक अर्थ की अनुभूति करनेवाला वाक्यांश मुहावरा कहलाता है। मुहावरे छोटे-छोटे वाक्यांश हैं जिनके प्रयोग से भाषा में सजावट, प्रभाव, चमत्कार और विलक्षणता आती है। मुहावरा स्वतंत्र वाक्य नहीं वाक्य का हिस्सा होता है। मुहावरे के प्रयोग से कही गयी बात अधिक प्रभाव छोड़ती है। 'मुहावरा' शब्द अरबी भाषा से लिया गया है, जिसका अर्थ है- अभ्यास। मुहावरा अतिसंक्षिप्त रूप में होते हुए भी बड़े भाव या विचार को प्रकट करता है। मुहावरे प्रायः नीति, व्यंग्य, चेतावनी, उपालम्भ आदि से सम्बंधित होते हैं।
कहावत / लोकोक्ति = लोक + उक्ति = लोकोक्ति = कई लोगों द्वारा कही बात, लोक में प्रचलित उक्ति, बात जो कही जाती है, मसल, कथन। जीवन के अनुभवों का सार बार-बार तथा कई लोगों के द्वारा कहा जाने पर कहावत बन जाता है।  कुछ लोकोक्तियाँ अंतर्कथाओं से भी संबंध रखती हैं, जैसे 'भगीरथ प्रयास' अर्थात जितना परिश्रम राजा भगीरथ को गंगा के अवतरण के लिए करना पड़ा, उतना ही कठिन परिश्रम। लोकोक्ति लेखक या वक्त के कथन से निसृत होकर प्रचलित होती हैं। लोकोक्ति भाषा तथा साहित्य का गौरव है।
मुहावरे वाक्यांश होते हैं, जिनका प्रयोग क्रिया के रूप में वाक्य के बीच में किया जाता है, जबकि लोकोक्तियाँ स्वतंत्र वाक्य होती हैं, जिनमें एक पूरा भाव छिपा रहता है। लोकोक्ति मुहावरे की तुलना में अधिक विस्तृत होती है। लिंग, वचन तथा प्रसंग के अनुसार इनका रूप बदलता है। ये वाक्य रूप में अपने आपमें पूर्ण होती हैं।
कुछ मुहावरे आँख पर 
आँख का काँटा = 
आँखों आँखोंमें बात होना = 
आँख का तारा = 
आँख चुराना = 

आँख झुकना = 

आँख दिखाना = 

आँख फेरना = 

आँख मारना = 

आँख मिलाना =

आँख लड़ना = 

अंधों में काना राजा = 

आँख का अंधा नाम नैन सुख: अर्थ - नाम के अनुसार गुण न होना >>> उसका नाम तो वीर प्रताप

है पर डर छिपकली से भी जाते हैं, इसी को कहते हैं आँख का अँधा नाम नैन सुख

अंधे आगे रोना, अपने नैना खोना = 

एक आँख से देखना = 




कोई टिप्पणी नहीं: