स्तम्भ menu

Drop Down MenusCSS Drop Down MenuPure CSS Dropdown Menu

गुरुवार, 23 अप्रैल 2015

रेल विभाग में आपात तैयारियां; संजीव

Welcome to Emergency Readiness in Jabalpur circle

You are requested to share the circle invitation below with all your contacts in Jabalpur: 

http://tinyurl.com/Jabalpur-Emergency-Response 

जबलपुर मंडल में आपात स्थिति से निबटने की तैयारी: कुछ सुझाव 
१. जबलपुर में १०० % लोग हिंदी समझते, पढ़ते, लिखते और बोलते हैं. इसलिए सभी सूचनाओं और अंतर्जाल पर सुझाव आमंत्रण में हिंदी को प्रमुखता दें. 
२. जबलपुर में अ. भूकंप. आ. चक्रवात / तूफ़ान, इ.भारी वर्षा, ई. अग्निकांड, उ. महामारी अथवा ऊ. दंगा के रूप में आपात स्थिति उत्पन्न हो सकती है. इनसे निबटने के लिये क. तात्कालिक तथा ख. दीर्घकालिक उपाय करने होंगे. कुछ उपाय उक्त सभी के लिए सामान होंगे तथा कुछ उपाय आपात स्थिति के प्रकार और गंभीरता अथवा व्यापकता के अनुसार बदलेंगे. 
३. इस संबंध में व्यापक चर्चा तथा योजना बनाकर क्रियान्वयन के लिए स्थानीय अधिकारी बैठक कर बात करें तो अधिक सार्थक होगा. यहाँ सब कुछ लिखा नहीं जा सकता. 
५. लेखक को मानने उच्च न्यायालय में इस संबंध में चले वाद प्रकरण में राज्य शासन का पक्ष प्रस्तुत करने के लिए उत्तर तैयार करते समय पर्याप्त सामग्री जुटाना पड़ी. चर्चा में उस अनुभव को साझा किया जा सकता है. 
६. तैयारी हेतु संसाधन रेलवे के अपने, जिला प्रशासन के, लोक निर्माण विभाग, स्वास्थ्य विभाग, नगर निगम आदि से जुटाकर सम्मिलित कार्य योजना बनाना होगी. उक्त तथा कुछ अन्य आपात स्थितियों की परिकल्पना कर वांछित कार्ययोजना बनाकर रखने और संबंधितों की जानकारी सूचीबद्ध होने पर तत्काल सूचित कर सहयोग ले पाना और निर्देश दे पाना संभव होगा. 
७. आपात स्थिति में जन प्रतिनिधियों पार्षदों, विधायकों, संसद, जनपद सदस्यों, संस्था प्रमुखों प्राचार्यों, स्वास्थ्य अधिकारी, महापौर, मुख्या अभियंता, आयुध निर्माणियों, विकास प्राधिकरण, अभियांत्रिकी महाविद्यालयों, मेडिकल कोलेज आदि के संसाधनों को एक जुट करना होगा. 
८. रेल विभाग को क्या मदद अन्यों से चाहिए और क्या मिल सकती है तथा क्या मदद अन्यों को चाहिए और क्या दी जा सकती है का भी आकलन करना होगा. 
९. सेवानिवृत्त किन्तु स्वस्थ कर्मचारियों / अधिकारीयों के व्यापक अनुभव का लाभ कब. कहाँ. कैसे लिया जा सकता है पूर्वानुमान करना होगा. 
१०. यथाशीघ्र विषय के जानकारों के साथ बैठकें कर प्रस्तावित कार्ययोजना तैयार कर लेना बेहतर होगा.

कोई टिप्पणी नहीं: