स्तम्भ menu

Drop Down MenusCSS Drop Down MenuPure CSS Dropdown Menu

सोमवार, 8 जून 2015

doha: sanjiv

दोहा सलिला:
संजीव 
*
रवि से दिव्य प्रकाश पा, सलिल हुआ संजीव 
इंद्र कृपा पा संग में, खिले अगिन राजीव 
*
रेप किया पकडे गये, जो वे हैं नादान 
बिन पकड़े मंत्री बने, जो वे परम सुजान 
*
खामोशी की सुन सकें, यदि हम-तुम आवाज़ 
दूरी पल में दूर हो, सुनकर दिल का साज़ 
*

कोई टिप्पणी नहीं: