स्तम्भ menu

Drop Down MenusCSS Drop Down MenuPure CSS Dropdown Menu

बुधवार, 8 जून 2016

muktika

मुक्तिका 
*
पहन जनेऊ, तिलक लगा ले।  
मेहनत मत कर, गाल बजा ले।। 
*
किशन आप, हर भक्तन राधा 
मान, रास मत चूक रचा ले।। 
*
घंटी-घंटा, झाँझ-मँजीरा 
बज, कीर्तन जमकर गा ले।।
*
भोग दिखाकर ठाकुर जी को 
ठेंगा दिखा, आप ही खा ले।।
*
हो न स्वर्गवासी लेकिन तू 
भू पर 'सलिल' स्वर्ग-सुख पा ले।।
***
२-५-२०१६ 
सी २५६ आवास विकास, हरदोई

कोई टिप्पणी नहीं: